Sunday 26/ 05/ 2024 

Dainik Live News24
अपरमुख्य सचिव के के पाठक के लेटरो की उड़ रही हैं धज्जियांजमुई का लाल डॉ. विभूति भूषण को पर्यावरण के क्षेत्र में बेहतर योगदान के लिए मिलेगा सम्मान, बढ़ेगा जमुई का मानविकलांग व्यक्ति ने गिराया वोटप्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी उपेन्द्र कुमार को अज्ञात लोगों ने गाड़ी से खींचकर मारा, उपेन्द्र हुए गम्भीर रूप से जख्मीचंदौली बना इतिहास का हिस्सा 16 कलाओं का माहिर बना यह लड़काशेखपुरा के हथियामां गांव में करंट लगने से पति-पत्नी की दर्दनाक मौत से गांव में प्रसरा सन्नाटासेमरी मध्य विद्यालय परिसर में लगा है पानी, बच्चों को हो रही है परेशानीविश्व के चौबीस लाख घरों में एक साथ, एक समय पर संपन्न हुआ गायत्री महायज्ञभारतीय गौ रक्षा वाहिनी ने किया काराकाट लोक सभा क्षेत्र से NDA प्रत्याशी का समर्थनआज शाम बिहार के इस लोकसभा में थम जाएंगे प्रचार प्रसार, 25 मई को होगी मतदान
Crime Newsउत्‍तर प्रदेशटॉप न्यूज़देशभाषाराज्य

वकीलों ने मिलकर लिया फैसला, मारपीट करने वालों का कोई नहीं लड़ेगा मुकदमा​​​​​​​

चकिया मुंशफ कोर्ट न्यायालय परिसर में अधिवक्ता अजय तिवारी के साथ अल्पसंख्यक समाज के कुछ वादकारियों के द्वारा मारपीट की गयी थी। इस घटना के बाद मंगलवार को अधिवक्ता लामबंद होकर बार भवन में बैठक कर निंदा प्रस्ताव पारित किया।
चकिया मुंशफ कोर्ट न्यायालय परिसर में मारपीट
अधिवक्ता अजय तिवारी के साथ हुयी थी घटना
दोनों आरोपी गिरफ्तार करके भेजे गए हैं जेल
कोई भी अधिवक्ता नहीं लड़ेगा मुकदमा

चंदौली जिले के चकिया मुंशफ कोर्ट न्यायालय परिसर में अधिवक्ता अजय तिवारी के साथ अल्पसंख्यक समाज के कुछ वादकारियों के द्वारा मारपीट की गयी थी। इस घटना के बाद मंगलवार को अधिवक्ता लामबंद होकर बार भवन में बैठक कर निंदा प्रस्ताव पारित किया। इसमें निर्णय लिया की मारपीट के आरोपियों का बार एसोसिएशन से जुड़ा कोई भी अधिवक्ता मुकदमा नहीं लड़ेगा।

बताया जा रहा है कि सिविल जज जूनियर डिवीजन के न्यायालय परिसर में बीते सोमवार की शाम वरिष्ठ अधिवक्ता प्रदीप नारायण सिंह के चेंबर पर बैठे अधिवक्ता अजय तिवारी के साथ वादकारी शहाबगंज थाना क्षेत्र के भोड़सर गांव निवासी इजहार और आजाद ने कहासुनी के बाद मारपीट कर लिया था। इसके बाद वे सभी मौके से फरार हो गये थे।

इस मामले को संज्ञान में लेकर आक्रोशित अधिवक्ता तत्काल कोतवाली पहुंचकर लिखित तहरीर दी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। मंगलवार को बार भवन में अधिवक्ताओं ने बैठक कर निंदा प्रस्ताव पारित किया। साथ ही यह निर्णय लिया कि आरोपियों का कोई भी मुकदमा संगठन से जुड़ा अधिवक्ता नहीं लड़ेगा।

अधिवक्ताओं की पहल पर उपजिलाधिकारी कुंदन राज कपूर ने दोनों आरोपियों के शांति भंग के धारा 151 की जमानत याचिका को खारिज करते हुए उनका चालान कर दिया।

इस दौरान अधिवक्ताओं में अध्यक्ष नारायण दास यादव, शंभूनाथ सिंह, प्रदीप नारायण सिंह, लालजी सिंह, श्याम नारायण सिंह, भैयालाल, विकास पांडेय, प्रमोद कुमार सिंह लड्डू, मिथिलेश ठाकुर आदि मौजूद रहे।

 

चंदौली ब्यूरो चीफ – नितेश सिंह यादव की रिपोर्ट

 

Check Also
Close