Sunday 16/ 06/ 2024 

Dainik Live News24
जमुई: हीट बेब ने ले ली युवा इंजीनियर विकास की जानदावथ थाना परिसर में हुई शांति समिति की बैठकबकरीद को लेकर हुई थाना में शांति समिति की बैठक आयोजितभाजपा कार्यकर्ता का समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन, कई मुद्दों पर हुआ विचार विमर्श….नौ दिवसीय श्रीमद देवी भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ का शुभारंभअल्लाह के प्रति बन्दे का सम्पूर्ण समर्पण है ईद-उल-अज़हाहॉकी का पहला सेमीफाइनल मैच काफी रहा रोमांचक…उत्कृष्ट कार्य करने पर स्वास्थ्य मंत्री ने डॉ रवि रंजन को किया सम्मानितऑपरेशन मुस्कान के तहत जमुई एस पी ने लौटाई कई लोगों की मुस्कान, बिहार पुलिस की अनूठी पहल व उपलब्धिगंगा दशहरा पर “जोहार स्वर्ण रेखा, नमामि स्वर्णरेखा” के तहत स्वर्णरेखा नदी के लिए दौड़ और गंगा आरती का आयोजन
उत्‍तर प्रदेशटॉप न्यूज़देशभाषाराज्य

चंदौली जिले में टारगेट पूरा करने का प्लान, 200 क्विंटल गेहूं देने वाले किसानों के घर जाएंगे अफसर

हालांकि चालू सीजन में बेमौसम समिति गठित की गई है। बारिश के कारण गेहूं। की खेती पिछड़ गई थी। ऐसे में जनपद में शासन के निर्देश पर एक मार्च से ही गेहूं खरीद का कार्य आरंभ तो कर दिया गया था।

जिला प्रशासन लक्ष्य पूरा करने के लिए मजबूर

अब घर-घर जाकर गेहूं खरीदने को भी तैयार

200 क्विंटल गेहूं रखने वाले किसानों के दरवाजे जाएंगे अफसर

ऐसा भी दिन आने वाला है अब

चंदौली जिले में अन्नदाताओं के लिए खबर अच्छी है। अब उनके पास 200 क्विंटल गेहूं है तो खरीदने के लिए अफसर गांव और घर तक जाएंगे। अभी तक उन्हें केंद्र पर लाकर बेचने की व्यवस्था रही। शासन ने शुरुआत में ही उन्हें यह सुविधा दी थी कि 100 क्विंटल तक गेहूं बेचने के लिए किसान को सत्यापन नहीं कराना पड़ेगा। पंजीयन के आधार पर खरीद होगी।

आपको बता दें कि समर्थन मूल्य पर जिले में गेहूं की खरीद पहली मार्च से शुरू हो गई थी। डेढ़ माह का समय बीतने के बाद किसानों का गेहूं बिक्री के लिए नहीं आ रहा। खुले बाजार में गेहूं के दाम अधिक होने से किसान आढ़तियों के यहां बेच रहे हैं। इससे केंद्रों पर उपज कम पहुंच रही। लगभग 70 प्रतिशत से अधिक फसल की मड़ाई हो चुकी है।

बताते चलें कि जनपद में गेहूं खरीद के लिए 87 क्रय केंद्रों की स्थापना की गई है। शासन ने 83 हजार 500 मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसके मद्देनजर अपनी उपज की बिक्री के लिए 4,785 किसानों ने पंजीकरण कराया है। वहीं शासन ने गेहूं का समर्थन मूल्य 2,275 रुपये निर्धारित किया है। कृषि प्रधान जनपद में रबी के चालू सीजन में कृषि विभाग की ओर से 1.13 लाख हेक्टेयर में गेहूं की खेती का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। इसके सापेक्ष 1.11 लाख हेक्टेयर में किसानों ने गेहूं की खेती की है।

हालांकि चालू सीजन में बेमौसम समिति गठित की गई है। बारिश के कारण गेहूं। की खेती पिछड़ गई थी। ऐसे में जनपद में शासन के निर्देश पर एक मार्च से ही गेहूं खरीद का कार्य आरंभ तो कर दिया गया था, लेकिन गेहूं की कटाई में विलंब के कारण क्रय केंद्र सुने पड़े थे। गेहूं की खरीद नही हो पा रही थी, लेकिन एक सप्ताह से कटाई में तेजी आने से अन्नदाता अपनी उपज लेकर क्रय केंद्रों पर पहुंचने लगे हैं।

इस संबंध में चंदौली जिले के जिला खाद्य व विषणन अधिकारी अनुपम निगम ने बताया कि गेहूं की खरीद को 87 क्रय केंद्रों की स्थापना की गई है। क्रय केंद्रों पर उपज पहुंच रही है। वहीं अवैध भंडारण को लेकर भी विभाग सतर्क है ताकि निर्धारित लक्ष्य को पूर्ण किया जा सके।

चंदौली ब्यूरो चीफ – नितेश सिंह यादव की रिपोर्ट
Check Also
Close