Wednesday 24/ 07/ 2024 

Dainik Live News24
बजट से शिक्षा और स्कील को मजबूतीरक्तदान शिविर का किया गया आयोजनराष्ट्रीय प्रसारण दिवस पर पर्यावरण भारती द्वारा किया गया वृक्षारोपण बजट विकसित भारत के लिए लाभकारी बजट है, इसमें बिहार को मिला है विषेश पैकेजलोक स्वस्थ अभियंत्रण विभाग अरवल की लापरवाही के आलम ये है की गांवों में चापाकाल बिगड़ा हुआ है पर ये विभाग के कान पर जूं नहीं रेंग रहादावथ सीएचसी में स्टॉप डायरिया आभियान की हुईं शुरुआतपूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक (GM) छात्रसाल सिंह ने की CM नीतीश कुमार, राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ अर्लेकर से शिष्टाचार मुलाकातअखंड हर कीर्तन का हुआ समापनशारेबाद गांव स्थित मैकानीक गैराज से अपाची बाइक की चोरी पंचायत भवन में नही पहुँचते पंचायत कर्मी लोग परेशान
Crime Newsजमुईदेशबिहारराज्य

शंकर सिंह हत्याकांड का हुआ खुलासा, मुख्य आरोपी डमरू यादव का डमरू बजाया, जमुई पुलिस ने दबोचा।

जमुई जिला ब्यूरो बिरेंद्र कुमार की रिपोर्ट

जमुई: वाहन को भी किया बरामद । जिसके जरिए डेथ बॉडी को सलटाया गया था। अपराधियों ने कुंदरी गांव निवासी शंकर सिंह की हत्या कर दी थी और उनके शव को काकन नहर के समीप फेंक दिया था।

पुलिस अधीक्षक डॉ. शौर्य सुमन ने इस हत्याकांड को गंभीरता से लेते हुए एक टीम का गठन किया और उसे त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश देते हुए कहा कि इस घटना का तुरंत खुलासा करें और नामित अपराधियों को सलाखों के पीछे धकेलें।

अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने आगे कहा की गठित टीम ने डॉग स्क्वायड और एफएसएल टीम की मदद से अंकित घटना का उद्भेदन कर मुख्य आरोपी कुंदरी गांव निवासी डमरू यादव को गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने कहा की मुख्य आरोपी से सघन पूछताछ के बाद कुछ और अपराधियों के घटना में संलिप्तता की बात सामने आई है। इन सभी की गिरफ्तारी के लिए भी मुहिम चलाया जा रहा है। श्री सुमन ने कहा की मृतक देह को सलटाने के लिए उपयोग में लाए गए वाहन को भी बरामद कर लिया गया है।

उन्होंने आपसी विवाद को हत्या का कारण बताते हुए कहा कि इस घटना का शीघ्र उद्भेदन कर लिया जाना जमुई पुलिस की बड़ी उपलब्धि है। इस अवसर पर जमुई थानाध्यक्ष अरुण कुमार समेत कई कर्मी उपस्थित थे।

      उधर जानकार बताते हैं कि नामित अपराधियों ने मृतक से भुट्टा मांगा और नहीं देने के कारण उसके साथ बुरी तरह मारपीट कर उसकी हत्या कर दी।

फिर अपराधियों ने मृतक देह को ठिकाने लगाने के लिए चार पहिया वाहन का इस्तेमाल किया और शव को काकन नहर के समीप फेंक दिया। घटना को अंजाम देने के बाद सभी अपराधी फरार हो गए।

      उल्लेखनीय है कि मृतक शंकर सिंह एक किसान थे और भुट्टा बेचकर अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण करते थे। वे अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं।

Check Also
Close