Monday 26/ 02/ 2024 

Dainik Live News24
3 करोड़ के लागत से भोजपुरी फिल्म आ रहा है अभिनेत्री नीलम पांडे और सिंगर नितेश सिंह यादव का जलवाऑल इंडिया चंद्रवंशी युवा एसोसिएशन ने किया प्रखंड का विस्तार:- प्रताप सक्सेना चंद्रवंशीराष्ट्र गौरव सम्मान- 2024 से विभूषित हुए साहित्यकार डॉ. अभिषेक कुमारअरवल जिला में महिला कार्यकर्ताओं को संगठित करना हमारा एकमात्र लक्ष्य: मुन्नी चंद्रवंशीबड़ी खबर कैमूर में भीषण सड़क हादसा 7 लोगों की मौत, पुलिस मामले की कर रही जांचतेलपा पुलिस के नाक के नीचे चल रही थी मिनी गन फैक्ट्री, स्थानीय पुलिस फेल, एसटीएफ को मिली सफलताजहानाबाद लोकसभा क्षेत्र में हो रहा है रेल सुविधाओं का विस्तार सड़क हादसे में एक व्यक्ति की मौतरामपुर चौकी इंचार्ज चकिया मुरारपुर से बबुरी थाना के आसपास एक्सीडेंट गाड़ी चालक को फिल्मी स्टाइल में 15 किलोमीटर दूरी पर दौड़ा कर पकड़ानेहरू युवा केंद्र द्वारा चलाया गया मतदाता जागरूकता अभियान
जमुईटॉप न्यूज़देशबिहारराज्य

सोनो में अचानक बदला मौसम का मिजाज, कड़ाके की ठंड से जन जीवन प्रभावित

सोनो जमुई संवाददाता चंद्रदेव बरनवाल की रिपोर्ट 

 पिछले दो दिनों पुर्व से लगातार कड़कड़ाती धूप के बाद सोमवार को एक बार फिर जमुई जिले में अचानक मौसम का मिजाज बदल गया है । सोनो प्रखंड सहित इलाकों में सोमवार की प्रात: बेला से ही हल्की बारिश के साथ शीतलहर प्रारंभ हो गई है । मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार अगले दो दिनों तक आकाश में बादल छाए रहेंगे तथा बारिश जारी रहने की संभावना है । साथ ही बारिश के साथ बज्रपात होने का ऐलो एलर्ट जारी किया गया है । बिते रविवार को सोनो प्रखंड के सभी इलाकों में अपराह्न समय तक अच्छी खासी धुप खिली रही । लेकिन संध्या होते ही अचानक धुप हल्की हो गई और ठंड का एहसास होने लगा । साथ ही आकाश में काले काले बादल मंडराने लगे । अचानक मौसम में हुई बदलाव ओर बारिश से जहां खेतों में लगी अरहर एवं सरसों तथा आलु की फसल नष्ट होने की संभावना है वहीं क्ई फसलों में फिर से नई जान आने से किसान खुशियां महसूस कर रहे हैं । ज्ञात हो कि उत्तरी भारत में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हैं जिसके कारण जमुई समेत विभिन्न इलाकों में हल्की से तेज बारिश होने का अनुमान है । मौसम का मिजाज बदलते ही शीतलहर पुनः वापस लौट गई है । सोमवार को प्रातः बेला में हुई बुंदा बांदी बारिश की वजह से दिनचर्या की भांति काम करने वाले लोग अपने घरों में दुबके रहे ।‌ इस बारिश के कारण सवारी ढोने वाली छोटी छोटी वाहनों पर भी खासा असर पड़ा , क्योंकि बारिश की वजह से सवारी नहीं मिली ओर वाहन चालक दिनभर यात्रियों को आने का इंतजार करते रहे । इधर इंट भट्ठों सहित अन्य स्थानों पर काम करने वाले दिहाड़ी मजदूरों पर भी खासा असर पड़ा है ।

Check Also
Close