Thursday 25/ 07/ 2024 

Dainik Live News24
जमुईदेशबिहारराज्य

बाबा ब्रह्मदेव स्थान गंडा में वार्षिक पुजोत्सव पर उमड़ा भक्तों का जन सैलाब

सोनो जमुई संवाददाता चंद्रदेव बरनवाल की रिपोर्ट 

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी ‌चरका‌ पत्थर थाना क्षेत्र अंतर्गत गंडा गांव में अवस्थित प्रसिद्ध बाबा ब्रह्मदेव की वार्षिक पुजोत्सव पर तकरीबन एक लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने दुध , धुप , अगरबत्ती आदि चढ़ाकर पूजा अर्चना की । मंदिर के भगत रघुनाथ यादव ने बताया कि बाबा ब्रह्मदेव की महिमा अपरम्पार है , जो भी श्रद्धालु सच्चे मन से मिन्नतें मांगती है बाबा उनकी मनोकामना अवश्य ही पुर्ण करते हैं ।

उन्होंने बताया कि वार्षिक पुजोत्सव पर तकरीबन एक लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा का दर्शन कर मिन्नतें मांगी और मांगी गई मिन्नतें पुरी होने वाले श्रद्धालुओं द्वारा फुल , बिल्वपत्र , दुध आदि चढ़ाकर ध्वजारोहण किया । साथ ही उक्त श्रद्धालुओं द्वारा बकरे की बलि चढ़ाई जायेगी , बकरों की बलि मंगलवार को प्रातः छह बजे से प्रारंभ होकर संध्या चार बजे तक जारी रहेगा ,जिसमें तकरीबन पांच हजार से अधिक बकरे की बलि चढाई जायेगी ।

समाज सेवी सह गंडा गांव निवासी राजकुमार यादव ने बताया कि भीड़ को नियंत्रित करने के लिए युवा वर्ग की एक टीम गठित की गई है , इन सभी गठित टीमों के द्वारा पुरे मैले की निगरानी की जा रही है , ताकि श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कठिनाइयां नहीं हो । उन्होंने बताया कि इस मेले को लेकर मीणा बाजार लगाया गया है , जहां पर नाव झुला , तारामांची आदि विभिन्न प्रकार के खेल तमासों की टीम द्वारा लोगों को मनोरंजन कर रही है ।

ज्ञात हो कि जमुई जिले के सोनो प्रखंड छेत्र अंतर्गत गंडा गांव में अवस्थित एकमात्र प्रसिद्ध बाबा ब्रह्मदेव का मंदिर है , जहां पर जमुई जिला सहित विभिन्न कई जिलों के श्रद्धालु बाबा ब्रह्मदेव से मिन्नतें मांगने आते हैं । इस पुजा को लेकर सोनो चरका पत्थर मार्ग पर जाम की स्थिति बनी रही । वहीं बाबा ब्रह्मदेव की पुजा अर्चना करने आने वाले श्रद्धालुओं से भरी वाहनों की कतार गांव के चारों ओर लगी रही । गंडा गांव के चारों ओर सिर्फ वाहनों की कतार दिखाई पड़ रही थी । वहीं भीड़ को लेकर पाकेटमारों ओर चोरों ने भी क्ई श्रद्धालुओं के गले से सोने का मंगलसूत्र और सिकड़ी आदि लुटने में सफल रहे । इस दौरान एक मोबाइल चोर को मंदिर कमेटी के द्वारा पकड़ा गया ।

साथ ही क्ई छोटे छोटे बच्चे भीड के कारण अपने परिजनों से बिछड़ गए , जिसे मंदिर कमेटी के द्वारा एनउंसमेंट कर खो चुके बच्चों को उसके माता पिता को सौंप दिया गया है ।

Check Also
Close