Monday 26/ 02/ 2024 

Dainik Live News24
3 करोड़ के लागत से भोजपुरी फिल्म आ रहा है अभिनेत्री नीलम पांडे और सिंगर नितेश सिंह यादव का जलवाऑल इंडिया चंद्रवंशी युवा एसोसिएशन ने किया प्रखंड का विस्तार:- प्रताप सक्सेना चंद्रवंशीराष्ट्र गौरव सम्मान- 2024 से विभूषित हुए साहित्यकार डॉ. अभिषेक कुमारअरवल जिला में महिला कार्यकर्ताओं को संगठित करना हमारा एकमात्र लक्ष्य: मुन्नी चंद्रवंशीबड़ी खबर कैमूर में भीषण सड़क हादसा 7 लोगों की मौत, पुलिस मामले की कर रही जांचतेलपा पुलिस के नाक के नीचे चल रही थी मिनी गन फैक्ट्री, स्थानीय पुलिस फेल, एसटीएफ को मिली सफलताजहानाबाद लोकसभा क्षेत्र में हो रहा है रेल सुविधाओं का विस्तार सड़क हादसे में एक व्यक्ति की मौतरामपुर चौकी इंचार्ज चकिया मुरारपुर से बबुरी थाना के आसपास एक्सीडेंट गाड़ी चालक को फिल्मी स्टाइल में 15 किलोमीटर दूरी पर दौड़ा कर पकड़ानेहरू युवा केंद्र द्वारा चलाया गया मतदाता जागरूकता अभियान
टॉप न्यूज़देशपटनाबिहारराज्य

राजधानी पटना में धूमधाम के साथ मनाया गया जीकेसी का स्थापना दिवस

बिहार राज्य संवाददाता वीरेंद्र कुमार की रिपोर्ट

पटना, विश्वस्तरीय कायस्थ संगठन ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ़्रेंस (जीकेसी) का स्थापना दिवस नागेश्वर कॉलोनी स्थित केन्द्रीय कार्यालय में धूमधाम के साथ मनाया गया।

    स्थापना दिवस के चार दिवसीय कार्यक्रम का शुभारंभ केन्द्रीय कार्यालय पटना में जीकेसी के ध्वजारोहण के साथ किया गया। इसके बाद दीप प्रज्जवलन के साथ कार्यक्रम की विधिवित शुरूआत की गयी। इस अवसर पर ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि तीन वर्षों की इस छोटी सी यात्रा के दौरान जीकेसी का संगठन विश्व के दो दर्जन देशों एवं भारत के अधिकांश राज्यों में हो चुका है।विश्व कायस्थ महासम्मेलन,100 से अधिक स्थानों पर शंखनाद यात्रायें,लगातार महादेवी वर्मा अवार्ड समारोह,गो ग्रीन,कुटीर उद्योग,मानवाधिकार संबंधी मामले सहित कार्यक्रम आयोजित हुए हैं। उन्होंने कहा कि वैश्विक कायस्थ एकता के लिए संगठन पूरी तरह से संकल्पित है।

   इस अवसर पर प्रबंध न्यासी श्रीमती रागिनी रंजन ने कहा, कायस्थ राजाओ, साम्राज्योँ और उनके साहसिक शासनकाल का अविष्मरणीय योगदान रहा है, जिसे कायस्‍थ समाज एक बार फिर दोहराएगा। हम सभी को फिर से एकजुट होने की जरूरत है। कार्यक्रम का संचालन जीकेसी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह सेवा-मानवाधिकार प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय प्रभारी डा. नम्रता आनंद ने की। दीप प्रज्वलन के साथ कई कलाकारों ने अपने सुरों से शमाँ बांध दिया।साथ ही कायस्थ एंथम के माध्यम से कायस्थों के स्वर्णिम इतिहास,उनके योगदान एवं उनकी उपलब्धियों का स्मरण किया गया।हिमाचल प्रदेश जीकेसी के अध्यक्ष ब्रिगेडियर डॉ अनिल कायस्थ समारोह के मुख्य अतिथि थे।

  कार्यक्रम में प्रस्तुति देने वाले लोगों में जीकेसी कला-संस्कृति प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रेम कुमार,राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कुमार संभव, डा. नम्रता आनंद,अनिल कुमार दास, कला-संस्कृति प्रकोष्ठ के अध्यक्ष दिवाकर कुमार वर्मा, अश्विनी वर्मा, स्मिता सिन्हा, विवेक सिन्हा,राकेश कुमार,पल्लवी कुमारी, शबनम कुमारी, मनोज कुमार सिन्हा, पूनम सिन्हा,रत्ना गांगुली, कुंदन तिवारी, सरताज सिंगर,स्वास्तिका सिंगर, युवराज सरगम, दिवाकर कुमार, यतीश सिन्हा,रवि सहाय,स्वेच्छा वर्मा

शामिल रही। कार्यक्रम की एंकरिंग अजय अम्बष्टा, पल्ल्वी कुमारी और स्वस्तिका सिंगर ने की। ऋषि राज युवा प्रकोष्ठ के संयोजक बनाये गये जबकि

रंजीता कुमारी,राकेश कुमार और पल्लवी कुमारी जीकेसी में सदस्य के तौर पर शामिल हुयी। इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश अध्यक्ष दीपक अभिषेक, जीकेसी के राष्ट्रीय सचिव सह कला-संस्कृति प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय सह प्रभारी दीप श्रेष्ठ, प्रदेश महासचिव संजय कुमार सिन्हा,राष्ट्रीय सचिव सुबाला वर्मा,अनुराग समरूप,समीर परिमल,जितेंद्र कुमार सिन्हा,रवि सहाय,रवि सिन्हा,धनंजय प्रसाद,बलिराम जी,मुकेश महान,दिलीप कुमार सिन्हा, नंदा कुमारी, रश्मि सिन्हा,ई प्रकाश चंद्र दास, नीलेश रंजन,आशुतोष ब्रजेश,रचना सिन्हा, राजेश कुमार डब्लू, विनीता कुमारी, सुशील कुमार, राणा कुमार, कृति राणा, प्रियदर्शी हर्षवर्धन, एस के वर्मा, राणेश रौशन, सुधीर नंदकुलियार, प्रसून श्रीवास्तव समेत कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

Check Also
Close