Sunday 16/ 06/ 2024 

Dainik Live News24
जमुई: हीट बेब ने ले ली युवा इंजीनियर विकास की जानदावथ थाना परिसर में हुई शांति समिति की बैठकबकरीद को लेकर हुई थाना में शांति समिति की बैठक आयोजितभाजपा कार्यकर्ता का समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन, कई मुद्दों पर हुआ विचार विमर्श….नौ दिवसीय श्रीमद देवी भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ का शुभारंभअल्लाह के प्रति बन्दे का सम्पूर्ण समर्पण है ईद-उल-अज़हाहॉकी का पहला सेमीफाइनल मैच काफी रहा रोमांचक…उत्कृष्ट कार्य करने पर स्वास्थ्य मंत्री ने डॉ रवि रंजन को किया सम्मानितऑपरेशन मुस्कान के तहत जमुई एस पी ने लौटाई कई लोगों की मुस्कान, बिहार पुलिस की अनूठी पहल व उपलब्धिगंगा दशहरा पर “जोहार स्वर्ण रेखा, नमामि स्वर्णरेखा” के तहत स्वर्णरेखा नदी के लिए दौड़ और गंगा आरती का आयोजन
उत्‍तर प्रदेशटॉप न्यूज़देशभाषाराज्य

मां की मौत से बेटियां हो गईं अनाथ, बाप के बाद छिना मां का साया

बुधवार को चंदौली के ओवर ब्रिज के पास रेलवे ट्रैक पार करते समय ट्रेन की चपेट में आने से सुमित्रा की मौत हो गई थी। शाम तक मां के घर नहीं पहुंचने पर बेटियां परेशान थीं।

ट्रेन की चपेट में आने से बुधवार को हुयी थी मौत

अगले दिन हो गयी मृत महिला की पहचान

मां की मौत के बाद बेटियों ने की पहचान

चंदौली जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र में रेलवे ओवर ब्रिज के पास ट्रेन से कटकर मरने वाली महिला की पहचान हो गयी है। महिला की पहचान बसिला गांव की सुमित्रा देवी के रूप में तब हुयी, जब महिला की बेटियों ने शाम तक घर न पहुंचने पर खोजबीन शुरू की।

कहा जा रहा है कि बसिला गांव की सुमित्रा देवी  की ट्रेन की चपेट में आने से बुधवार को मौत होने के बाद उनकी दो बेटियां अनाथ हो गई हैं। बृहस्पतिवार के सुबह पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे परिजनों ने शव की शिनाख्त की।

आपको बता दें कि बसिला गांव निवासी नंदलाल रेलवे में गैंगमैन थे। तीन-चार साल पहले दुर्घटना में उनकी मौत हो गई थी। इसके बाद उनकी पत्नी सुमित्रा को नौकरी मिल गई थी। बुधवार को चंदौली के ओवर ब्रिज के पास रेलवे ट्रैक पार करते समय ट्रेन की चपेट में आने से सुमित्रा की मौत हो गई थी। शाम तक मां के घर नहीं पहुंचने पर बेटियां परेशान थीं। बृहस्पतिवार को पुलिस की सूचना पर पोस्टमार्टम पहुंचकर परिजनों ने शव की शिनाख्त की।

आपको बता दें कि सुमित्रा देवी की कुल आठ बेटियां हैं, जिनमें 6 की शादी कर चुकी थीं,  लेकिन दो बेटियों की शादी अभी बाकी है। बाजार गयी मां की मौत से शशिकांता (20) और उजाला कुमारी (23) पर दुःखों का पहाड़ टूट पड़ा। दोनों बेटियां मां की मौत के बाद अनाथ हो गयीं हैं।

 

चंदौली ब्यूरो चीफ – नितेश सिंह यादव की रिपोर्ट
Check Also
Close