Sunday 16/ 06/ 2024 

Dainik Live News24
जमुई: हीट बेब ने ले ली युवा इंजीनियर विकास की जानदावथ थाना परिसर में हुई शांति समिति की बैठकबकरीद को लेकर हुई थाना में शांति समिति की बैठक आयोजितभाजपा कार्यकर्ता का समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन, कई मुद्दों पर हुआ विचार विमर्श….नौ दिवसीय श्रीमद देवी भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ का शुभारंभअल्लाह के प्रति बन्दे का सम्पूर्ण समर्पण है ईद-उल-अज़हाहॉकी का पहला सेमीफाइनल मैच काफी रहा रोमांचक…उत्कृष्ट कार्य करने पर स्वास्थ्य मंत्री ने डॉ रवि रंजन को किया सम्मानितऑपरेशन मुस्कान के तहत जमुई एस पी ने लौटाई कई लोगों की मुस्कान, बिहार पुलिस की अनूठी पहल व उपलब्धिगंगा दशहरा पर “जोहार स्वर्ण रेखा, नमामि स्वर्णरेखा” के तहत स्वर्णरेखा नदी के लिए दौड़ और गंगा आरती का आयोजन
उत्‍तर प्रदेशटॉप न्यूज़देशभाषाराज्य

नौगढ़ अस्पताल में मरीज बनकर आए थे CBI के अफसर, ऐसे जाल में फंसे डॉक्टर साहब ​​​​​​​

चंदौली जिले के नौगढ़ इलाके में तैनात एक डॉक्टर से मध्य प्रदेश के चर्चित  व्यापम घोटाले के तार जुड़े हैं। मामले में चल रही जांच को लेकर तीसरी बार सीबीआई की टीम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर  पहुंची।

कमरे पर जाकर इलाज कराने का किया नाटक

मरीज दिखाने के बहाने चिकित्सक को उठाया

जानिए किस महिला अभ्यर्थी को नकल कराने में थे शामिल 

चंदौली जिले के नौगढ़ इलाके में तैनात एक डॉक्टर से मध्य प्रदेश के चर्चित  व्यापम घोटाले के तार जुड़े हैं। मामले में चल रही जांच को लेकर तीसरी बार सीबीआई की टीम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर  पहुंची। इसके पहले भी यहां के दो चिकित्सकों को पूछताछ के लिए टीम आवास से ले जा चुकी  है। इस बार चिकित्सक डॉ सुनील कुमार को ओपीडी करते समय सीबीआई की टीम ने गिरफ्तार किया है।

 मध्य प्रदेश के चर्चित व्यापम घोटाले में वांछित चिकित्सक को पकड़ने हेतु सीबीआई (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) की टीम  मरीज बनकर अस्पताल  पहुंचे थे।पहले उन्होंने चिकित्सक के मोबाइल पर कॉल किया था और काफी दिनों से पेट में सूजन और दर्द होना बताया। ‌डॉ सुनील ने ओपीडी के कमरा नंबर 2 में आकर दिखाने को कहा, कुछ देर बाद ओपीडी में तीन चार लोग  पहुंचे, उनमें से एक स्टाफ ने बताया कि मेरे पेट में सूजन है और काफी दिनों से दर्द रहता है।‌ यहां लोगों के द्वारा पता चला है कि आप अच्छे डॉक्टर हैं। ‌हमारा प्राइवेट में चेक अप कमरे पर चलकर करिए, जो फीस होगा हम देंगे। 

सीबीआई की टीम ने कमरे पर दिखाने हेतु चिकित्सक  को राजी कर लिया और कमरे में ले जाकर अपने अंदाज में  पूछताछ और तलाशी के बाद चिकित्सक को उठा ले गए। इस मामले में चिकित्सा अधीक्षक डॉ अवधेश पटेल ने गोल मटोल जवाब देते हुए बताया कि चिकित्सक सुनील कुमार ने मंगलवार को ओपीडी किया है, इसके बाद से उनका पता नहीं है। बिना छुट्टी के अनाधिकृत रूप से गायब हैं, उनका मोबाइल स्विच ऑफ बता रहा है।

दो दिन का ट्रॉजिंट रिमांड 

बताया जा रहा कि अदालत ने दो दिन का ट्रॉजिंट रिमांड देकर बुधवार की शाम पांच बजे तक अपर सत्र  न्यायाधीश भोपाल की अदालत में पेश करने का आदेश दिया था। गिरफ्तार आरोपी डॉ. सुनील सिंह सीएचसी नौगढ़ में कार्यरत हैं। बताया जा रहा है कि ओपीडी करते समय उन्हें सीबीआई की टीम ने गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड के लिए कोर्ट में पेश किया है। जहां से उसे दो दिन के ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद सीबीआई टीम भोपाल के लिए रवाना हो गई।

सुनील कुमार पर व्यापम घोटाले में  धोखाधड़ी समेत कई आरोप है। जिसकी गिरफ्तारी का वारंट अपर सत्र न्यायाधीश भोपाल द्वारा जारी किया गया है। गिरफ्तार आरोपी डॉक्टर मूल रुप से जौनपुर जिले के ग्राम व पोस्ट  उर्रा का निवासी है। सीबीआई को कोर्ट द्वारा बुधवार तक भोपाल न्यायालय में पेश करने की समय दिया गया है।

ऐसी है घोटाले में शामिल होने की कहानी

गिरफ्तार डॉक्टर सुनील कुमार  आरोप है कि सैफई से  एमबीबीएस होने के बावजूद वह मध्य प्रदेश में पीएमपी 2012 के इंदौर में परीक्षा देकर एक  साथी महिला अभ्यार्थी को नकल कराई थी। और प्राइवेट कॉलेज की सीट रोकी थी। इस मामले में पकड़े गए लोगों ने इनका भी नाम लिया है।  इनके विरुद्व सीबीआई भोपाल मध्य प्रदेश की ओर से वारंट जारी किया गया था। उनके घर पर नोटिस चस्पा किया गया, लेकिन पहुंचे नहीं। सर्विलांस की मदद से मोबाइल लोकेशन के आधार पर सीबीआई टीम ने नौगढ़ में दबोच लिया।

 

चंदौली ब्यूरो चीफ – नितेश सिंह यादव की रिपोर्ट
Check Also
Close