Monday 26/ 02/ 2024 

Dainik Live News24
3 करोड़ के लागत से भोजपुरी फिल्म आ रहा है अभिनेत्री नीलम पांडे और सिंगर नितेश सिंह यादव का जलवाऑल इंडिया चंद्रवंशी युवा एसोसिएशन ने किया प्रखंड का विस्तार:- प्रताप सक्सेना चंद्रवंशीराष्ट्र गौरव सम्मान- 2024 से विभूषित हुए साहित्यकार डॉ. अभिषेक कुमारअरवल जिला में महिला कार्यकर्ताओं को संगठित करना हमारा एकमात्र लक्ष्य: मुन्नी चंद्रवंशीबड़ी खबर कैमूर में भीषण सड़क हादसा 7 लोगों की मौत, पुलिस मामले की कर रही जांचतेलपा पुलिस के नाक के नीचे चल रही थी मिनी गन फैक्ट्री, स्थानीय पुलिस फेल, एसटीएफ को मिली सफलताजहानाबाद लोकसभा क्षेत्र में हो रहा है रेल सुविधाओं का विस्तार सड़क हादसे में एक व्यक्ति की मौतरामपुर चौकी इंचार्ज चकिया मुरारपुर से बबुरी थाना के आसपास एक्सीडेंट गाड़ी चालक को फिल्मी स्टाइल में 15 किलोमीटर दूरी पर दौड़ा कर पकड़ानेहरू युवा केंद्र द्वारा चलाया गया मतदाता जागरूकता अभियान
Crime Newsदेश
Trending

वाह रे चकिया पुलिस एक ही परिवार में चार लोगों को लगाया गुंडा एक्ट

वाह रे चकिया पुलिस एक ही परिवार में चार लोगों को लगाया गुंडा एक्ट…

चंदौली- मामला चकिया थाने के सिकंदरपुर गांव का है पुलिस ने एक मामूली मामले में एक ही परिवार को चार लोगों पर गुंडा एक्ट लगाया है पुलिस इस कदर आग बबूला हो गई है कि शरीफ लोगों को गुंडा एक्ट साबित करने पर जुट गई है बता दें कि सिकंदरपुर थाना चकिया जिला चंदौली के मूल निवासी सियाराम यादव के चार पुत्रों पर गुंडा एक्ट लगा हुआ है जब मीडिया घर पर पहुंच कर जांच पड़ताल किया तो कोई भी क्रिमिनल हिस्ट्री नहीं निकला इस संबंध में घर के परिजनों एवं पीड़ित से बात किया गया तो एक मामूली मामले में गांव के ही कुछ लोग पुरानी रंजिश में झगड़े का मामला था बताते चलें कि पुलिस आंख बंदकर लोगों को गुंडा बताने पर तुली है। शरीफ लोगों को भी गुंडा एक्ट में निरुद्ध किया जा रहा है। प्रशासन की रिपोर्ट तो कुछ ऐसा ही खुलासा कर रही है। प्रशासन की माने तो पुलिस नियमों को दरकिनार कर मामूली झगड़ों के आरोपियों पर भी गुंडा एक्ट लगा देती है। बाद में जब जांच होती है को ऐसे लोगों को ‘शरीफ’ घोषित कर दिया जाता है। शासन की मंशा है कि अपराधियों पर नकेल कसी जाए और उनको जेल की सलाखों के पीछे डाला जाए।

इस फेर में पुलिस आंख बंद कर लोगों को गुंडा बनाने की कार्रवाई कर रही है। महज एक या दो मुकदमों के आधार पर ही आरोपी के खिलाफ गुंडा एक्ट की सिफारिश की जा रही है। नियमानुसार किसी भी अपराधी पर गुंडा एक्ट लगाने के लिए उसके खिलाफ पुलिस के रिकार्ड में गंभीर प्रकृति के अपराधों का दर्ज होना जरूरी होता है। पुलिस नियम कायदों को दरकिनार कर आपसी झगड़े में शामिल लोगों पर भी गुंडा एक्ट लगा रही है।

चंदौली ब्यूरो चीफ – नितेश सिंह यादव की रिपोर्ट

Check Also
Close