Monday 26/ 02/ 2024 

Dainik Live News24
3 करोड़ के लागत से भोजपुरी फिल्म आ रहा है अभिनेत्री नीलम पांडे और सिंगर नितेश सिंह यादव का जलवाऑल इंडिया चंद्रवंशी युवा एसोसिएशन ने किया प्रखंड का विस्तार:- प्रताप सक्सेना चंद्रवंशीराष्ट्र गौरव सम्मान- 2024 से विभूषित हुए साहित्यकार डॉ. अभिषेक कुमारअरवल जिला में महिला कार्यकर्ताओं को संगठित करना हमारा एकमात्र लक्ष्य: मुन्नी चंद्रवंशीबड़ी खबर कैमूर में भीषण सड़क हादसा 7 लोगों की मौत, पुलिस मामले की कर रही जांचतेलपा पुलिस के नाक के नीचे चल रही थी मिनी गन फैक्ट्री, स्थानीय पुलिस फेल, एसटीएफ को मिली सफलताजहानाबाद लोकसभा क्षेत्र में हो रहा है रेल सुविधाओं का विस्तार सड़क हादसे में एक व्यक्ति की मौतरामपुर चौकी इंचार्ज चकिया मुरारपुर से बबुरी थाना के आसपास एक्सीडेंट गाड़ी चालक को फिल्मी स्टाइल में 15 किलोमीटर दूरी पर दौड़ा कर पकड़ानेहरू युवा केंद्र द्वारा चलाया गया मतदाता जागरूकता अभियान
योजनाएं

राहुल गांधी के मुद्दे पर जयशंकर ने पश्चिमी देशों को यूं निशाने पर लिया- प्रेस रिव्यू

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रविवार को कर्नाटक दौरे के दौरान पश्चिमी देशों को एक बार फिर निशाने पर लिया.

बीते दिनों कुछ देशों ने राहुल गांधी की सांसदी जाने के मुद्दे पर कहा था कि वो इस मामले पर नज़र बनाए हुए हैं. पश्चिमी देशों की इस मुद्दे पर टिप्पणी से कांग्रेस के कुछ नेता जहां ख़ुश थे, वहीं बीजेपी विदेशों से आती टिप्पणियों के कारण कांग्रेस की आलोचना कर रही थी.

अब विदेश मंत्री जयशंकर ने भी पश्चिमी देशों की टिप्पणी पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. इस प्रतिक्रिया को दैनिक भास्कर समेत कई न्यूज़ वेबसाइट्स ने जगह दी है.

जयशंकर ने कहा, ”मैं आपको इसका ईमानदार जवाब देता हूं. पश्चिमी देशों की लंबे वक़्त से ये बुरी आदत रही है कि वो दूसरों के मामलों में टिप्पणी करते रहे हैं. पश्चिमी देशों को लगता है कि ये ईश्वर का दिया वरदान है कि वो दूसरों के आंतरिक मामलों में दखल दे सकते हैं.”

विदेश मंत्री बोले, ”पश्चिमी देशों को अपने अनुभव से सीखना होगा कि अगर आप यही सब करते रहेंगे तो दूसरे लोग भी आपके मामलों में दखल देंगे. ऐसा हुआ तब उनको अच्छा नहीं लगेगा और मैं देख रहा हूं कि ऐसा हो भी रहा है.”

बीते दिनों राहुल गांधी ब्रिटेन दौरे पर थे. इस दौरान राहुल गांधी ने कई कार्यक्रमों में बीजेपी सरकार की आलोचना की थी. इस आलोचना पर बीजेपी सरकार ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया था कि वो भारत को विदेश में बदनाम कर रहे हैं.

हालांकि इसके जवाब में कांग्रेस की तरफ़ से पीएम मोदी के उन भाषणों को भी शेयर किया गया जिसमें पीएम मोदी विदेश यात्राओं के दौरान भारत की कमियों के बारे में बात कर रहे थे.

बीजेपी ये भी आरोप लगाती रही है कि कांग्रेस पश्चिमी देशों से भारत के मामलों में दख़ल देने की बात करती है. हालांकि राहुल गांधी समेत कांग्रेस पार्टी इसे ख़ारिज करती है और कहती है कि किसी पश्चिमी देशों से दख़ल देने की कभी कोई बात नहीं की गई.

अब जयशंकर ने भी इस मुद्दे पर कांग्रेस को घेरा है.

जयशंकर ने कहा, ”सच्चाई का दूसरा हिस्सा ये है कि आप लोगों को ख़ुद पर टिप्पणी करने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं. इससे ज़्यादा से ज़्यादा लोग टिप्पणी करने के लिए आगे आते हैं. हमें दुनिया को ये न्योता भी देना बंद करना होगा कि भारत में समस्याएं हैं और अमेरिका समेत दुनिया के देश कुछ कर क्यों नहीं रहे?”

जयशंकर ने कहा, ”ऐसे में अगर कोई यहां से जाएगा और कहेगा कि आप लोग शांत क्यों हैं और कुछ कहते क्यों नहीं? तब निश्चित दौर पर वो लोग बोलेंगे. समस्या के लिए कुछ वो ज़िम्मेदार हैं और कुछ हम. मुझे लगता है कि दोनों को सुधरने की ज़रूरत है.”

सूरत की एक कोर्ट से ‘मोदी सरनेम मानहानि केस’ में राहुल गांधी को दो साल की सज़ा सुनाई गई है. इस सज़ा के एक दिन बाद ही राहुल गांधी की संसद की सदस्यता चली गई थी.

कोर्ट के फ़ैसले के ख़िलाफ़ तीन अप्रैल यानी सोमवार को राहुल गांधी अपील करेंगे.

गोल्डी बरार
इमेज कैप्शन,गोल्डी बरार

ये है विदेशों में छिपे 28 वॉटेंड गैंगस्टर्स की लिस्ट

भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने विदेशों में छिपे 28 कुख्यात गैंगस्टर्स की लिस्ट तैयार की है.

इस लिस्ट के बारे में हिंदुस्तान टाइम्स ने पहले पन्ने पर ख़बर छापी है. अख़बार का दावा है कि इस लिस्ट में पहला नाम सतिंदर सिंह उर्फ़ गोल्डी बरार का है.

गोल्डी बरार पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या मामले में मास्टरमाइंड बताया जाता है.

एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) के मुताबिक़, बरार का बब्बर खालसा इंटरनेशनल (बीकेआई) के लखबीर सिंह से सीधा संपर्क है.

अख़बार लिखता है कि लिस्ट में दूसरा नाम अनमोल बिश्नोई उर्फ़ भानू का है जिसके अमेरिका में होने की बात कही गई है. भानू के ख़िलाफ़ भी एनआईए ने चार्जशीट दाखिल की है.

भानू पर आरोप है कि वो नेपाल, कनाडा समेत दूसरे देशों के खालिस्तान समर्थकों से संपर्क में है.

इस लिस्ट में उन देशों का भी ज़िक्र है जहां ये गैंगस्टर्स संभवत: छिपे हो सकते हैं. इन देशों में पाकिस्तान, अमेरिका, कनाडा, यूएई, यूरोप, अर्मीनिया, अज़रबैजान, मलेशिया, ब्राज़ील, इंडोनेशिया, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया और हांगकांग शामिल हैं.

अख़बार में छपी लिस्ट के मुताबिक़, जिस देश में सबसे ज़्यादा गैंगस्टर छिपे हो सकते हैं वो कनाडा है.

गाय

इमेज स्रोत,GETTY IMAGES

कर्नाटक: कथित गौरक्षकों ने पीट-पीटकर की हत्या

कर्नाटक में कथित गौरक्षकों की पिटाई के कारण एक वैन ड्राइवर इदरिस पाशा की मौत हो गई. रविवार को पाशा को दफ़नाया गया.

इस दौरान बड़ी संख्या में लोग भी जुटे और घटना के विरोध में प्रदर्शन किया.

द हिंदू की ख़बर के मुताबिक़, मामले में मर्डर केस दर्ज किया गया है. अख़बार लिखता है कि शनिवार को मवेशियों को ले जाने वाली वैन पर कथित गौरक्षकों ने हमला किया. इस दौरान गाड़ी में तीन लोग थे, इनमें पशु व्यापारी इरफ़ान भी थे.

इदरिस पाशा को गौरक्षकों ने काफ़ी बुरी तरह से पीटा जिसके कुछ वक़्त बाद पाशा की मौत हो गई. पाशा के परिवार का आरोप है कि शरीर पर कई जगह जलने और गंभीर चोटों के निशान थे.

परिवार की शिकायत पर दक्षिणपंथी संगठन से जुड़े पुनीत केरेहल्ली पर केस दर्ज कर लिया गया है. इस घटना के सामने आने के बाद कांग्रेस पुनीत की उन तस्वीरों को साझा कर रही है जिसमें वो बीजेपी नेताओं के साथ दिख रहे हैं.

सोशल मीडिया पर भी लोग इन तस्वीरों को साझा कर रहे हैं.

छोड़िए Twitter पोस्ट, 1

Twitter सामग्री की इजाज़त?

इस लेख में Twitter से मिली सामग्री शामिल है. कुछ भी लोड होने से पहले हम आपकी इजाज़त मांगते हैं क्योंकि उनमें कुकीज़ और दूसरी तकनीकों का इस्तेमाल किया गया हो सकता है. आप स्वीकार करने से पहले Twitter cookie policy और को पढ़ना चाहेंगे. इस सामग्री को देखने के लिए ‘अनुमति देंऔर जारी रखें’ को चुनें.

पोस्ट Twitter समाप्त, 1

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी कहा जा रहा है कि कथित गौरक्षकों ने पाशा से दो लाख रुपये भी मांगे थे, जिसके ना दिए जाने पर बेरहमी के साथ उनकी पिटाई की गई.